मुंगेर कांड के बाद हाई अलर्ट पर प्रशासन, जल मार्ग पर भी बढ़ी चौकसी

Team Drishti

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तीन नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर पुलिस प्रशासन की धड़कनें तेज हो गई हैं.मुंगेर की घटना से बड़ा सबक लेते हुये पुलिस प्रशासन की ओर से मनेर के रामपुर दियारा से अथमलमोला तक चौकसी बढ़ा दी है।

गंगा व नदियों के रास्ते असामाजिक तत्च आ-जा न सकें, इसके लिए जलमार्ग पर पहरा कड़ा कर दिया गया है. पुलिस पूरी तरह से हाई अलर्ट मोड पर है. रिवर पेट्रोलिंग के लिए शनिवार से एनडीआरएफ की टीम ने भी मोर्चा संभालते हुये पेट्रोलिंग शुरू कर दी। आईजी रेंज संजय सिंह ने बताया कि मुंगेर में हुई हिंसा को लेकर तीन नवंबर को होने वाले मतदान पर कोई असर न पड़े, इसके लिए हर स्तर पर चौकसी बरती जा रही है. रिवर पेट्रोलिंग के जरिए सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता बनाया जा रहा है।

एनडीआरएफ की एक टीम में पांच सदस्य
डीएम कुमार रवि के आदेश के अनुपालन में रिवर पैट्रोलिंग पर पूरा जोर दिया जा रहा है. इसके लिए एनडीआरएफ की ओर से पेट्रोलिंग कर निगरानी शुरू कर दी गई है. एक टीम में पांच सदस्यों को शामिल किया गया है.नाव व बोट पर सवार एनडीआरएफ के सदस्य लाइफ जैकेट, रस्सा, टार्च आदि से लैस होंगे। उनके साथ पुलिस के जवान भी गंगा व नदी में गश्त करेंगे।

दियारा में नहीं चलेंगी नावें, पीपा पुल पर होगी चेकिंग
डीएम कुमार रवि के आदेश के तहत तीन नवंबर को मतदान के दिन दियारा क्षेत्र में नावों का परिचालन पूरी तरह से बंद रहेगा.वहीं, पीपा पुल पर सघन रूप से जांच अभियान चलाया जाएगा.इसके लिए डीएम ने सभी विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारियों के साथ बैठक कर जलमार्ग की सुरक्षा पर मंथन किया है. एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि क्यूआरटी के साथ बाइक व घुड़सवार दस्ता भी तैयार किया गया है. यदि किसी ने शांतिभंग करने की कोशिश की तो पुलिस उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: