बुजुर्ग व चलने में असमर्थ लोगों की सुविधा हेतु जल्द होम वैक्सीनेशन की सुविधा होगी शुरू : उपायुक्त.

देवघर : उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्री मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में जिला अंतर्गत सभी प्रखंडो में तेजस्वनी क्लब द्वारा टीकाकरण को लेकर किए जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने प्रखंडवार तरीके से तेजस्वनी योजना में कार्यरत ब्लॉक कॉर्डिनेटर, फील्ड कॉर्डिनेटर, युथ फैसिलिटेटर(युवा-सूत्रधार), क्लस्टर कॉर्डिनेटर, संगी, तेजस्वनी क्लब के सदस्यों द्वारा अपने-अपने क्लस्टरों में शत प्रतिशत टीकाकरण को लेकर किए जा रहें कार्यों से अवगत हुए।

साथ ही विभिन्न प्रखंडो में बेहतर प्रदर्शन करने वाले क्लस्टर के सदस्यों की सराहना करते हुए उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि साप्ताहिक टीकाकरण कार्य में बेहतर तरीके से कार्य करने वाले प्रखंडो के क्लस्टर में कार्यरत युथ फैसिलिटेटर, क्लस्टर कॉर्डिनेटर एवं संगी को स्टार के रूप में चिन्हित करते हुए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने का निर्देश दिया। आगे उपायुक्त ने देवघर प्रखंड के क्लस्टर संख्या 15 के सभी सदस्यों के शत प्रतिशत टीकाकरण को लेकर अन्य क्लस्टरों को इस दिशा में बेहतर कार्य करने का निर्देश दिया।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि वर्तमान में टिकना है, तो टीका लें नारा को चरितार्थ करते हुए सबसे पहले आप सभी 834 क्लब के शेष बचे सदस्य एवं आपके परिजन जल्द से जल्द अपना टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। आगे उन्होंने विभिन्न प्रखंडो के ब्लॉक कॉर्डिनेटर, फील्ड कॉर्डिनेटर, युथ फैसिलिटेटर क्लस्टर कॉर्डिनेटर, संगी से बातचीत करते हुए उनके कार्य योजना और शत प्रतिशत टीकाकरण को लेकर किए जाने वाले कार्यों से सभी को अवगत कराया। साथ ही उपायुक्त ने जिले के सभी प्रखंडों में कोविड जागरूकता, वैक्सीनेशन के अलावा बाल विवाह, दहेज प्रथा, कन्या भ्रूण हत्या से जुड़े बिंदुओ पर लगातार कार्य करने का निर्देश दिया, ताकि योजना का लाभ किशोरी, बालिकाओं और युवतियों तक सुलभ तरीके से पहुंच सके।

इसके अलावे उपायुक्त ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि बाल-विवाह प्रतिशेध अधिनियम 2006 के तहत 18 साल से कम आयु की लड़की और 21 साल से कम आयु के लड़के का विवाह करना दंडनीय अपराध है। यह अपराध गैर जमानती है। उपायुक्त ने कहा कि लोगों को बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम के तहत जागरूक करने की महत्वपूर्ण भूमिका आप सभी सदस्यों की है। उन्होंने कहा कि इस अधिनियम के तहत कोई व्यक्ति बाल-विवाह करता है या इसको बढ़ावा देता है और या फिर बाल विवाह करवाने में सहायता करता हो तो उसकी जानकारी जिला प्रशासन या जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को दे, ताकि ऐसे लोगों को चिन्हित करते हुए आवश्यक कानूनी कार्यवाही की जा सके।

टीम भावना और आपसी समन्वय के साथ करें कार्य : उपायुक्त
इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि तेजस्विनी योजना को सिर्फ एक परियोजना समझकर नहीं बल्कि इसे मिशन मानकर कार्य करें, ताकि जिले की किशोरियों को हर स्तर से जागरूक और आत्मनिर्भर बनाया जा सके। आगे उपायुक्त ने कहा कि सभी प्रखंडो के कुल 100 क्लस्टरों को पूर्ण रूप से सक्रिय करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया। साथ ही बैठक के दौरान बाल-विवाह, दहेज प्रथा, एनीमिया, कन्या भ्रूण हत्या, शौचालय के नियमित उपयोग, और सामाजिक सशक्तीकरण के संबंध में विस्तृत चर्चा करते हुए उपायुक्त ने सभी सदस्यों से इस दिशा में जमीनी स्तर पर बेहतर तरीके से कार्य करने का निर्देश दिया।

आने वाले दिनों में एक दिन में तीस हज़ार लोगों का वैक्सीनेशन कराना उद्देश्य : उपायुक्त
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने सभी क्लब के सदस्यों को शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के उद्देश्य से कार्य करते हुए तेजस्वनी परियोजना से जुड़े सदस्यों के अलावा सभी 14 से 24 वर्ष की बालिकाओं से अपील होगा कि अपने स्तर से लोगों को अपने परिजनों को कोविड टीका लगवाने हेतु प्रेरित करें, ताकि जिले में सभी का टीकाकरण सुनिश्चित किया जा सके। साथ ही वैक्सीनेशन में तेजी लाने के उद्देश्य से लिए पंचायतों स्तर पर टोला-टोला में टीकाकरण अभियान में सभी तेजस्वनी क्लब के सदस्य सहयोग दे, ताकि कोविड रणनीति का प्रभावी क्रियान्वयन किया जा सके और अधिक-से-अधिक लोगो को कोविड से बचाव हेतु टिका लगाया जा सके। आगे उपायुक्त ने उपायुक्त ने शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण क्षेत्र देवघर जिला अंतर्गत कोविड वैक्सिन के प्रथम डोज, द्वितीय डोज, कोरोना संक्रमण व वैक्सिनेशन को लेकर जागरूकता के अलावा कोविड नियमों का शत प्रतिशत अनुपालन, साफ-सफाई व कोविड रोकथाम के प्रति लोगों को जागरूक करने में जिला प्रशासन के सहयोग का आग्रह किया।

तीसरी लहर को लेकर हम सभी को अपने व्यवहार में सतर्कता और सावधानी बरतने की आवश्यकता
बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गई कि टीकाकरण के अलावा मास्क, सामाजिक दूरी का अनुपालन और साफ-सफाई के प्रति जागरूक करते रहें। इसके अलावे उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई है कि स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड नियमों के शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करने के अलावा लोगों को सतर्क और जागरूक करने की कड़ी को मजबूत करने के उद्देश्य से व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है, जिसमे आप सभी भी जुड़ जाए ताकि कोविड रोकथाम, बचाव के कार्यों से आप अवगत होते रहे।इन सभी ग्रुपों में संबंधित अधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं संबंधित थानों के थाना प्रभारी, जनप्रतिनिधियों, पंचायत स्तर के अधिकारी, कर्मचारियों को जोड़ा गया, ताकि 194 पंचायत में वैक्सीनशन, कोविड टेस्टिंग, स्वास्थ्य व्यवस्था की निगरानी की जा सके, ताकि पंचायत स्तर की आवश्यकताओं को देखते हुए उसे त्वरित पूरा किया जा सके।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी श्री एबी रॉय, समाज कल्याण पदाधिकारी श्री कनक तिर्की, तेजस्विनी परियोजना के सभी ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी, जिला समन्वयक, युवा उत्प्रेरक, तेजस्वनी क्लब के सदस्य, क्लस्टर समन्वयक एवं तेजस्वनी परियोजना के 355 से अधिक सदस्य आदि बैठक में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: