मनरेगा में गड़बड़ी , 12 हज़ार से अधिक शिकायते

झारखंड में मनरेगा से जुड़ी 12 हजार से अधिक शिकायतें मिली हैं. इनमें बकाया मजूदरी, देरी से भुगतान सहित मनरेगा से संचालित विभिन्न योजनाओं में भ्रष्टाचार के भी कई गंभीर शिकायतें हैं. सबसे अधिक शिकायत रामगढ़, धनबाद जिले से मिली है. राज्य सरकार ने मिली शिकायतों के विरूद्ध त्वरित एक्शन लेते हुए जिलों को कार्रवाई के लिए कहा था, इनमें करीब 10 हजार से अधिक शिकायतों पर एक्शन टेकेन रिपोर्ट सौंपी गयी है.

भ्रष्टाचार से जुड़े मामलों पर कार्रवाई करते हुए इस साल में अब तक 1.46 करोड़ की राशि की वसूली भी कर ली गयी है. वहीं, 34 मनरेगा कर्मियों को बर्खास्त किया गया है, 21 मामलों में प्राथमिकी भी दर्ज की गयी है. ग्रामीण विकास विभाग ने सभी जिलों से मनरेगा से जुड़ी शिकायतों के निष्पादन पर अब तक क्या कार्रवाई हुई इसकी रिपोर्ट मंगायी है जिसमें यह खुलासा हुआ है. राज्य में अब तक पांच कर्मियों को विभिन्न गड़बड़ियों के आरोप में निलंबित किया गया है.

इसे भी पढ़े :-

झारखण्ड में कुल कोरोना एक्टिव केसो की संख्या 234 , 12 जिलों में नहीं मिले एक भी कोरोना मरीज

इस मामले में 992 अधिकारी-कर्मियों को शो-कॉज पूछा गया है. अनियमितता के आरोप में सिर्फ देवधर के 236 मनरेगा कर्मियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है. कई बीडीओ भी जांच के दायरे में हैं. 34 कर्मियों को बर्खास्त किया गया है. वहीं 21 मामलों में प्राथमिकी भी दर्ज की गयी है.

इन जिलों से इतनी शिकायतें मिली
जिला शिकायतें मिली

बोकारो 1

चतरा 271

देवघर 980

धनबाद 1527

दुमका 19

प.सिंहभूम 19

गढ़वा 172

गिरीडीह 411

गोेड्डा 288

गुमला 56

हजारीबाग 3558

जामताडा 212

खूंटी 27

कोडरमा 141

लातेहार 93

लोहरदगा 556

पाकुड़ 156

पलामू 14

रामगढ़ 3253

रांची 130

साहेबगंज 13

सरायकेला 167

सिमडेगा 467

प.सिंहभूम 75

कुल : 12767

Leave a Reply

हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES
%d bloggers like this: